शरीर के लिए खतरनाक है ज्यादा चाय

Connect with us

भारतीयों के लिए चाय का उनके जीवन में एक अलग ही महत्व है। वो चाय ही है जो सुबह-सुबह आपको आपके बिस्तर से उठने को मजबूर कर देती है। किसी के घर जाते हैं तो सबसे पहले चाय ही पूछी जाती है। मीटिंग, ऑफिस हर जगह आपको चाय की जरूरत पड़ती है। यहां तक की हमारे प्रधानमंत्री भी कह चुके हैं कि वो भी कभी चाय ही बेचते थे। तो देखा आपने चाय आपके जीवन में कितनी अहमीयत रखती है। लेकिन वो कहते हैं कि हर चीज की अगर अति हो तो वो हमारे लिए जहर बन जाती है। इसीलिए आज हम आपको ज्यादा चाय पीने से होने वाले नुकसान और उससे बचने के तरीकों के बारे में बताएंगे। वैसे तो आजकल चाय के अनेक प्रकार हैं, ग्रीन टी, हर्बल टी लेकिन भारत में अधिकतर दूध और चीनी से बनी चाय का ही प्रयोग किया जाता है। जब इस चाय की मात्रा हमारे शरीर में ज्यादा हो जाती है तो इससे हमें
गैस, acidity, अलसर जैसी कई समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि चाय पीने से संबंधित आप कुछ बातों का ध्यान रखें।

1. सुबह बिस्तर पर चाय (Bed tea) कुछ लोगो की नींद चाय की चुस्की के बिना नहीं खुलती है. कई बार कुछ लोग तो दो या दो से ज्यादा भी बेड टी ले लेते हैं. जब तक चाय नहीं मिलेगी न ही बिस्तर से उठेंगे, न ही टॉयलेट जायेंगे. रात को खाना खाने के बाद और सुबह उठने तक सामान्तया 6-7 घण्टे हो चुके होते हैं. इतने समय में हमारा पेट खाली होता है और खाली पेट चाय पीने से गैस ( Gas ), एसीडिटी ( Acidity), पेट फूलना ( Bloating), खट्टी डकारें, जी मिचलाना ( Nausea) जैसी समस्याएं शुरू हो जाती हैं और हमारे पूरे दिन के क्रिया कलापों पर इसका नकारात्मक असर पड़ता है। पहले तो आप बेड टी लेने की आदत छोडें और यदि नहीं छोड़ पा रहे हैं तो बेड टी लेने से पहले एक गिलास पानी जरुर पी लें। इससे चाय से होने वाले नुकसान काफी कम हो जाएंगे।

2. बहुत अधिक गरम चाय ना पियें – जो लोग बहुत अधिक गरम चाय पीते हैं, उन्हें इसोफेजियल कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। यदि आपको खौलती हुई चाय सर्व की जाए तो उसे कम से कम 3 मिनट तक ठंडा होने दें और उसके बाद ही पिएं।

3. ज्यादा देर तक उबली हुई चाय ना पीयें- कुछ लोग ज्यादा पत्ति वाली और देर तक उबली हुई चाय ही पीते हैं ऐसी चाय में टैनिन काफी मात्रा में आ जाता है। लगातार इस तरह की चाय का सेवन करने से जी मिचलाना, उल्टी, हाइपर एसीडिटी, अल्सर तक हो जाते हैं और पेट की झिल्ली के लिय यह चाय बहुत ही घातक होती है।

4. ज्यादा चाय ना पीयें- बहुत से लोग दिन में 5–6 कप या उससे भी अधिक चाय पी जाते हैं। कुछ लोग तो जितनी चाय मिल जाएँ उतनी पी जाते है। ज्यादा चाय पीने से शरीर में चीनी और दूध के रूप में फैट की भी अतिरिक्त मात्रा आ जाती है। जिससे डायबिटीज, कोलेस्ट्रोल, osteofluorosis, उच्च रक्त चाप( high bp) इत्यादि का खतरा बढ़ जाता है। आयुर्वेद के अनुसार ज्यादा चाय शरीर में पित्त बढाती है जिससे हाथ पैर के तलवों में जलन, पेट में जलन, खट्टी डकार आना, अनिद्रा जैसी तकलीफ शुरू हो जाती है। इसलिये 2-3 कप चाय से ज्यादा ना पीयें और हर बार की मात्रा भी कम रखें।

5. सोने से पहले चाय ना पीयें- कुछ लोग रात में सोने से पहले चाय पीते हैं। रात में चाय पीने से Nervous System प्रभावित हो सकता है। जिससे बेचैनी, अनिद्रा, सिर दर्द जैसी दिक्कतें हो जाती हैं। पाचन बिगड़ जाता है इसलिए रात को सोने से पहले चाय ना पीयें।

6. सिर्फ चाय कभी ना पीयें- यदि आपको शाम को चाय पीने की आदत है तो उसके साथ कुछ ना कुछ जरुर खाएं। खाली पेट चाय ना पीयें जैसे बिस्किट आदि और शाम की चाय से पहले भी सुबह की तरह एक गिलास पानी जरुर पी लें। इससे चाय के नुकसान काफी कम हो जाते हैं.

दोस्तों अंग्रेजों द्वारा दी गई चाय का ज्यादा सेवन करना सिगरेट, शराब, गुटके से भी ज्यादा खतरनाक साबित होता है। समाज में शराब, तम्बाकू, अफीम आदि के नशे के प्रति तो शर्म, संकोच और झिझक होती है। और लोग इन्हें हेय द्रष्टि से देखते हैं लेकिन चाय के साथ ऐसा कुछ नहीं है। आप सुबह से रात तक कितनी भी चाय पीयें आपको कोई टोकने वाला नहीं है और यही बात चाय के लिए खतरनाक साबित होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *